Tomato (Tamatar) ki kheti kaise karen

tomato tamatar modern kheti

टमाटर की खेती कैसे करें ?   whatsapp 9814105671

मौसम  और  ज़मीन :- टमाटर गरम ऋतू की फसल है ये  फलने फूलने के लिए ज़्यादा  टाइम  लेती है। इसके लिए  तापमान बीस  से तीस डिग्री होना  चाहिए।  काम तापमान मैं बूटा  काम बढ़ता है। इसको लाल  होने  के  लिए  पंद्रह से तीस डिग्री  होना चाहिए चालीस  डिग्री के  ऊपर टमाटर ख़राब  होने  के चांस होते हैं।  ये हर  तरह  की ज़मीन  मैं  होता  है।

टमाटर की बिजाई का ढंग :-

टमाटर की पौध  तैयार करना :-

सो ग्राम बीज अक्टूबर -नवंबर मैं एक  एकर  के लिए  ठीक है। इसको पचास वर्ग मीटर  मैं डेढ़ मीटर  छोड़ी  और सात इंच छोड़ी कियारी ठीक है।  कियारी बनाने  से पहले दस क्वेंटल गोबर खाद मिला देनी चाहिए  कियारी  को बिजाई से पहले कम  से  कम दस  दिन पहले  पानी लगाये।  कियारी  को  एक से  डेढ़ परसेंट फार्मलीन के  घोल से पांच  लीटर पानी प्रति वर्ग  मीटर  से  गीला  करें। कियारी  को  प्लास्टिक की चादर से एक दिन के लिए  धक दे। पांच  दिन  तक बहाई करें  तन  की फार्मलीन  का असर  खत्म   हो जाये। .बीज  शोध  के लिए  कप्तान या  थेर्म दवाई  प्रति  किलो  बीज  के  लिए  लगाएं। दो सेंटीमीटर  की  लाइन  मैं बीजे। पौध अंकुरित होने  के  पांच  दिन  बाद कॅप्टन या  थेरेम  दवाई चार  ग्राम एक  लीटर  पानी मैं दाल  के  गीला  करें। इसको दस  दिन बाद दुहरायें।

खाद :-दस टन गोबर + पचीस  किलो न्यट्रोजन +पचीस किलो फ़ॉस्फ़ोरस +पचीस किलो पोटास प्रति एकर बूटा लगाने से पहले जरूरत  है। ये  खाद  बूटे  की लाइन  से  पंद्रह सेंटीमीटर  दूर  डाले  नहीं तो बूटा  जल जायेगा। रेत  वाली ज़मीन मैं खाद  तीन बार डालें। भारी  ज़मीन मैं न्यट्रोजन  काम कर  दें।

टमाटर की बिजाई का फासला :- पौधा से पौधा  फासला  दस इंच और लाइन से  लाइन  का फासला चालीस इंच होना चाहिए।

पानी :- पहला  पानी  पौध  लगाने  के  बाद  दें। गर्मी मैं साप्ताहिक और  सर्दी मैं पंद्रह  दिनों मैं पानी दें टोटल पंद्रह  के करीब  पानी दें।

टमाटर की तुड़वाई :- तुड़वाई मंडी  के फासले के हिसाब से  करें। दूर  की मंडी के  लिए  पका हुआ  हरा फल तोड़े और नज़्दीएक  के लिए  लाल  रंग  मैं तब्दील होने वाला तोड़े। चटनी बनाने  के लिए  पके  लाल फल लें।

टमाटर की उन्नत किस्मे

हाइब्रिड :- टी एच :-ये माध्यम किसम है। इसका फल गोल  लाल होता  है। ये तुड़वाई के बाद  काफी देर तक रख सकते हैं और  मंदीकरण मैं आसानी होती है। इसकी  टी इस इस मात्र पांच प्रतिशत है और  ये  किस्म दबा बंदी के लिए ठीक है। इसकी पैदावार ढाई सो क्वेंटल /एकर  है।  इसको झुलस रोग काम लगता है।

टी एच आठ सो दो :-ये पूरी और पेस्ट  बनाने के  काम आता है। ये  ताज़ा खाने  के  लिए  भी  ठीक है। इसकी पैदावार ढाई सो क्वेंटल /एकर  है। इसको जड़ की बीमारी कम लगती है।

टी एच तेईस बारह :- ये  टमाटर  अंडाकार के होते  हैं। इनकी चमड़ी मोती होती है। और  ये  टेम्प्रेचर भी  झेल लेते  हैं। इसको भी  जड़  की  बीमारी नहीं लगती  और  ये  चार  महीने  मैं  तुड़वाई के  लिए  तैयार  हो  जाता  है। ये  किसम भी दाबबन्दी  के लिए  ठीक है अगर  इसको  नवंबर मैं  लगाये  तो  कोहरे  से  पौध  को  बचाना  जरूरी  है।

पंजाब उपमा :- इसका फल अंडाकार और  कल  होता है  ये  मंदीकरण  के लिए  ठीक है झाड़ दो सो बीस  क्वेंटल  निकलता  है। इसके  एक क्वेंटल  मैं  से  तीन सो ग्राम  बीज  निकल  जाता है।

पंजाब केसरी :- ये  मधरी किस्म  है  और  इसका  झाड़ दो सो तीस  क्वेंटल  निकलता  है  और  जे  जूस  निकलने  के  लिए  सही है।  ये  धुप मैं  भी थोड़ा  ठीक  रहता है।

पंजाब ट्रोपिक :- ये  पछेती फसल  है और  फैटी  जियादा है। ये  भी  मंडी के  लिए  सही है   और  झड़  दो सो चालीस  क्वेंटल प्रति एकर  निकलता है।

टमाटर की बिमारिय:-

अगेता झुलस रोग :-  इस से  पते  काले  भूरे  रंग  के ढाबे पत्तों  पर  हो जाते  हैं।  पते  पीले हो कर  गिरते हैं। फल गलना शुरू  हो जाता है।

पछेता  झुलस रोग :- ये  तने और पते  पर  भी  ढाबे  हो जाते  हैं और जिसका  बुरा  असर  फल  पे  पड़ता है।  अगर  फरबरी  मार्च  मैं बारिश हो  जाये  तो फसल भी तबाह  हो सकती है और  फल  पे  बुरा असर  होता  है

 

इसकी  रोकथाम के  लिए  बारिश  के  तुरंत बाद  स्प्रे  करें। इसके  लिए  एम पैंतालिश छे सो एम एल प्रति एकर  डालें।

उखेड़ा रोग :- ये  नर्सरी मैं लगता  है  जिस  से  पौध  मर  जाती है। इसकी  रोक के  लिए बीज  को कप्तान से।  शोध लें।

पते मुड़ना :-इस से पते  नीचे  मुद  जाते  हैं। ये  रोग  सफेद  मक्खी से भी फैलता है

रोकथाम : खराब पौधे  उखड  दे और  मेटासिस्टाक्स की स्प्रे  डॉक्टर की salah से  करें।

जरूरी सूचना :- पौध  को  खेत  मैं  लगाने  से  पहले दयमथोएट से दस  एम एल तीस ताकत की से दस  बारह लिटिर  पानी मैं खेत मैं लगाने से पहले छाव मैं छे घंटे  के  लिए  डुबो  दें

Verities किस्मे :-

1)- Tomato S -22

Plant :- Determinate

Fruit Type :- Flat Round ,Smooth ,Dark Red .

Average Weight :- 70 gms.

First Picking :- 70  to 80 days from transplanting

Specifications :- Good Keeping Quality .

टमाटर एस – 22
पौधा :- मध्यम चार फुट
फल :- साफ़ गोल , पूरा लाल
वज़न :- 70-80 ग्राम।
पहली तुड़वाई :-70 to 75 दिन पौध लगाने के बाद।
गुण :-  नज़दीकी सेल के लिए बढ़िया।

tomato seed modernkheti

tomato s-22

Click Here to See More Seeds और बीज देखने के लिए यहां क्लिक करें

अधिक  जानकारी के लिए  हमारे  साथ  जुड़े  रहे   whatsapp 9814105671

Related posts

Join us For New Updates!

मॉडर्न खेती की नई  जानकारी लेने के लिए लाइक बटन दबाये

Share Post